टाटा स्टील कंपनी में उपद्रव, फायरिंग

जमशेदपुर [जासं]। टाटा स्टील कंपनी परिसर में मामूली बात को लेकर सोमवार को तोड़फोड़, पथराव व आगजनी हुई। सुरक्षा बलों ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए फायरिंग की। पथराव व फायरिंग में एक दर्जन से अधिक लोग जख्मी हुए हैं। सभी का अस्पताल में इलाज चल रहा है। घायलों में मजदूरों के अलावा एक छायाकार व आधा दर्जन सुरक्षा कर्मी शामिल हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने वाटर कैनन व टाटा स्टील के फायर ब्रिगेड वाहन ने किसी तरह आग पर काबू पाया।

बताया जाता है कि सुरक्षा कर्मियों ने मजदूरों को साइकिल सहित कंपनी के अंदर जाने से रोका। इसी बात को लेकर झड़प हो गई। उत्तेजित मजदूरों ने बाहर खड़े वाहनों में आग लगा दी व कारों में तोड़फोड़ की। आगजनी से सात मोटरसाइकिल, एक दर्जन साइकिल जल गई। पुलिस के अनुसार मौके पर तैनात सुरक्षा बलों ने 5-6 गोलियां दागीं, जबकि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार 25-30 गोलियां चलाई गई। जिला प्रशासन से वार्ता के बाद कंपनी प्रबंधन ने मजदूरों को साइकिल से कंपनी के अंदर प्रवेश करने की इजाजत दी गई। तब जाकर मजदूरों का आक्रोश शांत हुआ। स्थानीय सांसद डॉ. अजय कुमार घायलों का हालचाल लेने एमजीएम अस्पताल पहुंचे और कंपनी की मनमानी व तानाशाही नीति के खिलाफ आंदोलन की बात कही।